White Lotus in blossom…

रिश्ता-ए-निहाँ

Posted in Methinks, Urdu poetry by ytelotus on May 22, 2013

क्यों बदलती है तबीयत मौसम के बदलने से
जैसे भीगा हुआ एह्सास ओस के गिरने से
खिल उठता है दिल फूलों के खिलने से
उकसा जाती हूँ दरिया के समँदर से मिलने से
क्यों … ?

क्यों गुदगुदी सी होती है नसीम के छूने से
गाता है मेरा दिल पँछियों के चह्चहाने से
सरकती हूँ मैं सूखे पत्तों के सरसराने से
वह हल्का सा एह्सास तितली के फ़रफ़राने से
क्यों … ?

क्यों दहलाती है मुझे बादलों की गरज
चौँकाते हैं मुझे बर्क़ के शोले
वह घेर लेनेवाला सर्द बारिश का क़तरा
मुन्तज़ीर करते हुए तूफ़ान के थमने का
क्यों … ?

क्यों मुरझाती हूँ मैं चमन के उजडने से
मायूस सी होती हूँ सूरज के ढ़लने से
मचलता है बदन गरमी की बढ़ने से
गल जाने का एह्सास बर्फ़ के पिघलने से
क्यों … ?

सोचती हूँ मैं मन ही मन, आखिर
क्या रिश्ता है मेरा क़ुदरत के वारीदात से
क्यों माइल है यूँ मेरी सरिश्त…
क्यों महरूम हूँ मैं इस राज़-ए-निहाँ से?
क्यों … ?

Glossary

ओस = dew
उकसा जाना = propelled
दरिया = river
गुदगुदी = tickling
नसीम = gentle breeze
चह्चहाना = twitter
सरकना = slide
फ़रफ़राना = flutter
दहलाना = terrify
बर्क़ = lightning
सर्द = cold
क़तरा = droplet
मुन्तज़ीर = awaiting
वारीदात = events, happenings (plural of वारदात)
माइल =inclined, biased
सरिश्त = temperament
महरूम = deprived

4 Responses

Subscribe to comments with RSS.

  1. Aijaz said, on July 17, 2013 at 7:40 am

    Existantialism… everything is linked.

  2. Pradeep said, on October 28, 2016 at 12:31 pm

    Very nice introspection. Upar waale ne aapko ek ghazab ka hunar nawaazaa hai … ghazal aur nazm likhne kaa.
    Faiz ke alfaaz aur Zafar ke safar to aapko viraasat mein mili hai ; maashaa allaah, nazar naa lage

    • ytelotus said, on October 29, 2016 at 11:05 am

      Kuch zyaada hii bol gaye aap. 🙂 It’s just some inspiration that made me write, bas aur kuch nahii.

      • Pradeep said, on November 28, 2016 at 4:32 pm

        Kaash main kuchh bol paataa!!! Yeh to dil kee aawaaz thee
        ; Lafz jubaan se aap hee nikal rahe the,
        aur aapne dil ke udgaaron ko hamaaraa bolnaa samajh liyaa


Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: